8.9.18

फ्यूचर मेकर रेड स्कवेयर मार्केट स्थित मार्केट कंपनी का कार्यालय सील होने के बाद जुटे सैकड़ों लोग।

धाेखाधड़ी के आरोप में तेलंगाना पुलिस की ने रेड स्क्वेयर मार्केट स्थित फ्यूचर मेकर कंपनी के ऑफिस को सील कर दिया है। इस कार्रवाई के बाद हजारों लोगों की इनवेस्टमेंट करवाने वाली फ्यूचर मेकर कंपनी के पदाधिकारी भूमिगत हैं। इनके विरुद्ध तेलंगाना के कुकटपल्ली पुलिस थाना में एक पीड़ित की शिकायत पर एफआईआर दर्ज हुई है, जिसमें कंपनी के सीएमडी राधेश्याम सहित अन्य पदाधिकारी व सदस्य नामजद हैं। इन आरोपियों की धरपकड़ के लिए शुक्रवार को हिसार आए मल्टीलेवल मार्केटिंग के अनुभवी एवं तेलंगाना के असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस ए. सुधीर कुमार ने दैनिक भास्कर से विशेष बातचीत की। उन्होंने बताया कि फ्यूचर कंपनी के खिलाफ केस रजिस्टर्ड हुआ तो मामले की गहनता से जांच की। पता चला कि कंपनी के पदाधिकारी 7500 रुपए लेकर न सिर्फ लोगों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। इनका नेटवर्क ध्वस्त करने और लोगों को सचेत करने के लिए कमिश्नर वी.सी सजनार ने दिलचस्पी दिखाते हुए एक्शन के आदेश दिए थे।

इस कार्रवाई के लिए एक टीम का गठन किया गया, जिसने फ्यूचर मेकर कंपनी की वेबसाइट को खंगाला। उसमें पदाधिकारियों व अन्य सदस्यों की जानकारी जुटाई। कंपनी के आरोपी सीएमडी राधेश्याम और एमडी बंसी लाल हिसार के रहने वाले हैं और उन्होंने यहां की सिटी में भी अपना कार्यालय खोल रखा था। वेबसाइट से सुराग जुटाकर इनवेस्टीगेशन एवं आरोपियों की धरपकड़ के लिए हिसार पहुंचे थे, लेकिन वे नहीं मिले। इसलिए कार्यालय से एविडेंस हासिल करके उसे सील कर दिया। इसके साथ ही प्रारंभिक एक्शन में आरोपियों के बैंक खातों की डिटेल खंगाल रहे हैं। बैंक अधिकारियों को लैटर लिखकर उनके खाते भी फ्रीज करवाए जाएंगे।

तेलंगाना के असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस ए. सुधीर कुमार

रेड स्कवेयर मार्केट स्थित कंपनी सील होने के बाद जुटी लोगों की भीड़

रेड स्कवेयर मार्केट स्थित फ्यूचर मेकर कंपनी का कार्यालय सील होने के बाद जुटे सैकड़ों लोग।

लुक आउट नोटिस जारी होगा

फ्यूचर कंपनी के पदाधिकारियों पर पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। ऐसे में पुलिस को अंदेशा है कि कंपनी के पदाधिकारी गिरफ्तारी व पुलिस इनवेस्टीगेशन से बचने के लिए विदेश भाग सकते हैं। ऐसे में इन्हें रोकने के लिए पुलिस द्वारा लुक आउट नोटिस जारी होगा। बता दें कि कंपनी पदाधिकारी उन इनवेस्टर्स को विदेश टूर पर भेजते थे, जो अन्य लोगों को सपने दिखाकर इनवेस्टमेंट के लिए जोड़ा करते थे। सैकड़ों प्रमोटर्स को बैंकॉक सहित अन्य विदेशों में टूर पर भेजा गया है, जिनकी वीडियो व फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हैं।

हिसार पुलिस सवाल- जवाब करती रही, सैकड़ों किमी दूर से आई तेलंगाना पुलिस कार्रवाई कर गई

फ्यूचर कंपनी के खिलाफ दिल्ली स्थित फेडरेशन ऑफ डायरेक्ट सेलिंग की तरफ से हिसार पुलिस को शिकायत देकर कार्रवाई की गुहार लगाई थी। यहां तक की करीब एक पखवाड़ा पहले फेडरेशन की टीम सिटी थाना पुलिस के सवालों का जवाब देने के लिए हिसार भी आई थी। विडंबना यह कि उनसे इतने सवाल पूछे गए कि जिनका जवाब देते हुए परेशान हो गए थे। मायूस होकर टीम बैरंग लौटी थी। हिसार पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। इसलिए कंपनी और पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की। अब तेलंगाना से पुलिस ने आकर उक्त कार्रवाई को अंजाम दिया है। हिसार पुलिस प्रशासन लोगों को सचेत रहने के लिए एडवाइजरी जारी करता रहा।

कंपनी से जुड़े इनवेस्टर्स परेशान, प्रमोटर्स ने फोन बंद किए

हिसार में फ्यूचर मेकर कंपनी का कार्यालय सील होते ही सोशल मीडिया पर पोस्ट वायरल हो गई। इन्हें देखने के बाद कंपनी से जुड़े इनवेस्टर्स जहां परेशान हो गए हैं, वहीं प्रमोटर्स ने फोन बंद कर लिए हैं। जब कई प्रमोटर्स से संपर्क करना चाहा मगर सभी के फोन स्विच ऑफ या आउट ऑफ रीच मिले। कंपनी से जुड़े जिन इनवेस्टर्स को तीन माह से ज्यादा समय हो गया है, उन्होंने अपना निवेश पैसा तो कमा लिया मगर जिन्होंने हाल ही में ज्वाइन किया है उन्हें अपना पैसा फंसता दिख रहा है। हालांकि कंपनी कोट-पेंट का कपड़ा, प्रोड्क्टस रिटर्न गिफ्ट देती है, जिसकी कीमत तीन हजार के करीब है। बाकी पैसा कंपनी के खाते में जाता है। कंपनी लोगों को लुभाने के बड़े-बड़े सेमिनार करती है। प्रमोटर्स के खाने-रहने, हवाई यात्रा सहित अन्य अलाउंस भी देती थी।

यूं समझिए कैसे खेला जाता है मल्टीलेवल मार्केटिंग का खेल

एक्सपर्ट बताते हैं कि करीब 300 डिफॉल्टर्स का गैंग है जो सबसे पहले एक कंपनी में एक साथ बतौर लीडर शामिल होते हैं, फिर वह कंपनी के लिए निवेश लाने का इंतजाम करते हैं। वह कंपनी के मालिकों से शर्त रखते हैं कि कुछ समय तक उन्हें कैसे भी करके लोगों के रुपये वापस दोगुने या तीन गुने वापस करने होंगे तभी लोगों में यह संदेश जाएगा कि कंपनी भरोसेमंद है। फिर वह प्रचार कर कंपनी की ब्रांड वैल्यू बनाते हैं। इसके बाद निवेश आना शुरू हो जाता है तो उस निवेश को घुमाते रहते हैं। जिस दिन शिकायतें और एक्शन होता है उस दिन यह लीडर गायब हो जाते हैं और नई कंपनी में खोलकर फिर से लोगों को कहने लगते हैं कि आईए हम उस फ्रॉड कंपनी की तरह नहीं हैं।

SHARE THIS

0 Comment to "फ्यूचर मेकर रेड स्कवेयर मार्केट स्थित मार्केट कंपनी का कार्यालय सील होने के बाद जुटे सैकड़ों लोग।"

Post a Comment